Taksh Pragya Sheel Gatha
Home >> आम जनहित >> फेक आईडी

फेक आईडी

Narendra Shende
narendra.895@rediffmail.com
Sunday, August 8, 2021, 01:31 PM
Fake ID

आई०टी० सेल के टीम लीडर नागेन्द्र शुक्ला की टीम के चार कर्मचारियों की. Fake ID में नाम इस प्रकार थें.

1. प्रमोद मिश्रा का प्रमोद मौर्य

2. महेंद्र पांडे का महेंद्र जायसवाल

3. राम प्रकाश दुबे का रामू कुशवाहा

4. विशाल तिवारी का विशाल यादव       

सबसे पहले नागेन्द्र शुक्ला एक पोस्ट डालता है कि "आरक्षण की भीख नें देश को बर्बाद कर दिया है, आरक्षण की भीख से नौकरी पाने वाला डॉक्टर का बच्चा जब खुद बीमार पड़ता है तो इलाज कराने किसी जनरल कोटे के डॉक्टर के पास जाता है !"

अब शुरू होता है इस नाटक के बाकी तीनो किरदारों का तमाशा, देखिए कमेंट बॉक्स में।

प्रमोद मौर्य: "सही कहा नागेन्द्र शुक्ला जी मैं (OBC) हूँ, मगर एक देशभक्त भारतीय होने के नाते आरक्षण रूपी इस सामाजिक कोढ़ का विरोध करता हूँ।"

फिर बारी आती है दूसरे नौटंकीबाज रामू कुशवाहा की वो तत्काल लिखता है कि, "सही कहा प्रमोद जी इसी आरक्षण की खैरात के कारण क़ानून-व्यवस्था भी चौपट हो गई है अब जब 85% नम्बर से टॉप किये काबिल नौजवान को नौकरी नहीं मिलेगी और वो परिवार का पेट पालने के लिये मजबूरी में अपराधी बन जायेगा तो भला 40% नम्बर से बी.ए. पास होकर आरक्षण की भीख से दरोगा बनने वाला उनको कैसे पकड़ सकता है।"

अब तीसरा नौटंकी बाज महेंद्र जायसवाल आता है और कमेंट बॉक्स में लिखता है कि, "अब देश और समाज के हित में आरक्षण नामक कैंसर को पूरी तरह से समाप्त कर दिया जाना चाहिये।"

चौथा नौटंकीबाज विशाल यादव लिखता है कि "बड़े भाई रामू कुशवाहा जी आपने बिल्कुल ठीक कहा जिस साल लोक सेवा आयोग की परीक्षा में एसडीएम की 86 पोस्ट में से 56 हमारे यादव समाज के लोग चयनित हो गये थें, उसी साल हमारा साला भी एसडीएम बन गया था, साले को ठीक से अपना नाम तक नहीं लिखना आता मगर आरक्षण की बदौलत लाल बत्ती वाली गाड़ी में घूम रहा है।

इस बीच इस पोस्ट पर तमाम अहीर, कुनबी, काछी, तमोली, तेली, कलवार, भुंजवा, लोहार, बढ़ई आदि द्रारा धड़ाधड़ लाइक्स मिलते रहते हैं !

अचानक.....इस ग्रुप चैटिंग में पंकज साहू की एंट्री होती है "विशाल जी मुझे ये बताइये की वो परीक्षा कब हुई थी जब 86 में 56 एसडीएम पास हुए थें, आप तो बता रहे हैं कि आपका साला भी उसी परीक्षा में चयनित हुआ था ?

विशाल यादव रिप्लाई करता है "पंकज भैया मैं सारी जानकारी आपको शाम तक इसी ग्रुप में देता हूँ, अभी नेटवर्क भी कम है और बहुत जोर से पेट गुड़गुड़ा रहा है, टॉयलेट जाना है।

उसके बाद से आज कई महीने हो गयें तब से अब तक इन सभी आई.डी. से एक भी पोस्ट या चैट नहीं हुई !





Tags : treatment himself doctor country reservation