Taksh Pragya Sheel Gatha
Home >> क्या आप जानते है >> क्या यह राष्ट्रदोही नही है

क्या यह राष्ट्रदोही नही है

TPSG

Wednesday, December 30, 2020, 08:16 PM
Rastradrohi

क्या आपको ऐ जानकारी है और यह राष्ट्रदोही नही है? ..*

सवाल : पाकिस्तानी जासूस ध्रुव सक्सेना कौन है ?

जवाब : बीजेपी का कार्यकर्ता है आईटी सेल संयोजक भोपाल

सवाल : पाकिस्तानी जासूस चमन लाल कौन है ?

जवाब : आरएसएस का कार्यकर्ता 

सवाल : पाकिस्तानी जासूस अच्युतानंद मिश्र कौन है ?

जवाब : संघ का सदस्य 

सवाल : पाकिस्तानी जासूस विकास पांडेय कौन है?

जवाब : बीजेपी का बूथ अध्यक्ष 

सवाल : अतंकवादी प्रज्ञा ठाकुर कौन है?

जवाब : बीजेपी की सांसद 

सवाल : अतांकी असीमानंद कौन है ?

जवाब : आरएसएस का कार्यकर्ता 

सवाल : अतंकवादी संस्था अभिनव भारत किसकी समर्थक है ?

जवाब : आरएसएस और बीजेपी

सवाल : ब्रह्मोस किंगुप्त जानकारी चीन को किसने दी ?

जवाब : संघ कार्यकर्ता संदीप मिश्रा ने

सवाल : अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमला किसने करवाया था ?

जवाब : बीजेपी कार्यकर्ता संदीप शर्मा ने

सवाल : पाकिस्तानी जासूस पंकज मिश्रा कौन है ?

जवाब : बीजेपी कार्यकर्ता है

सवाल : पाकिस्तानी जासूस दीपक त्रिवेदी कौन है ?

जवाब : बीजेपी कार्यकर्ता है

सवाल : पाकिस्तानी जासूस पंकज अय्यर कौन है ?

जवाब : बीजेपी कार्यकर्ता है 

सवाल : पाकिस्तानी जासूस संजीत कुमार, संजय त्रिपाठी, बबलू सिंह, विकास कुमार, राहुल सिंह, संजय रावत, देवशरण गुप्ता, रिंकू त्यागी, ऋषि मिश्र, वेदराम् कौन हैं ?

जवाब : बीजेपी कार्यकर्ता, संघ के सदस्य

सवाल : पाकिस्तानी जासूस मनीष कौन है ?

जवाब: बीजेपी का कार्यकर्ता और कैलाश विजयवर्गीय का खास

सवाल : मोहित शर्मा कौन है ?

जवाब : बीजेपी का कार्यकर्ता और शिवराज चौहान का खास ।

इसके अलावा भी लगभग 500 नाम और हैं जो कि पाकिस्तान के लिए जासूसी करते रंग हाथ पकड़े गए हैं 

 बीजेपी की हर स्पीच पाकिस्तान से शुरू होकर पाकिस्तान पर ही ख़त्म होती है..!! 

मोदी बिना बुलाए, चुपके से, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ की जन्मदिन का केक खाने पहुंच गए और बिरयानी की दावत उड़ा कर वापिस आ गए मगर फिर भी देश भक्त ही हैं..!! 

क्या इन सभी को राष्ट्र-द्रोही नहीं कहना चाहिए 

है ना चमत्कार??

[27/12, 13:47] Motiram T. Borkar: *सावधान किसानों की लड़ाई किसानों कि नहीं यह संविधान बचाने की हैं*

*न बीजेपी की कब्र खुद रही है*

*न कांग्रेस की ,*

*"कब्र खुद चुकी है लोकतंत्र की,"*

*असल में यह लड़ाई बिलो की वापसी की नहीं है, ये लड़ाई उस राजनीतिक व्यवस्था से है जो लोकतंत्र को बंधक बना चुकी है ,लोकतंत्र की अलग परिभाषा गढ़ी जा   चुकी है ,जिसके समर्थन में सियारो की फोज खड़ी हैं जो हर किसी का शिकार करने के लिए आमादा है एक रंगा सियार दिल्ली से हुक्की हूं चिल्लाता है बस उसकी फोज गला फाड़कर नकल करना शुरू कर देती है ,*

*चाहे किसी पार्टी की सत्ता रही हो प्रश्न पार्टियों का नहीं है,न ही ये पार्टी का खड़ा किया हुआ आंदोलन है ,नहीं तो कब का खत्म हो चुका होता , जो पार्टी आज समर्थन कर रही है वहीं कल बिल के  विरोध में थी और आज जो पार्टी विरोध कर रही है वहीं कल समर्थन में थी ,सवाल उस दृष्टिकोण का है कि सत्ता में बैठकर सत्ताधीश  जनता को किस दृष्टि से देखता है ,*

*कैसे ऐसा कोई बिल संसद में पारित हो सकता है जिसके लिए न्यायालय में जाने  तक की  मनाही है ।*

*कैसे ऐसा कोई बिल संसद में  व्यापार के नाम पर पारित हो सकता है जिसके केंद्र में कृषि हो जबकि कृषि संबंधित कानून राज्य का विषय है ।*

*कैसे राज्य सभा में बिना किसी बहस के ,बिना वोट किए  कानून पारित किया जा सकता है ।*

*कैसे विरोध की आवाज को कोरॉना के नाम पर दबाया जा रहा है ,कैसे Corona के नाम पर संसद बंद कर दी गई जबकि इसी Corona समय में  ही ये तीनों बिल पास किए गए ।*

*क्या किसी  देश का प्रधानमंत्री ये बोल सकता है कि उसके देश की जनता गुमराह हो गई है ।*

*कैसे संभव है कि गाड़ी के नीचे कुत्ते के पिल्ले के आ जाने पर दर्द दिखाने वाले देश के प्रधानमंत्री के मुंह से शहीद किसानो की लिए एक शब्द भी नहीं निकले  ।*

*कैसे ऐसा कोई बिल देश की संसद में पास हो सकता है जो ये घोषणा करता है कि अनाज, चावल, प्याज आज से आवश्यक वस्तु नहीं रही ।*

*एक ऐसे समय में जब देश में विपक्ष न के बराबर है,सत्ता के खिलाफ आवाज उठाने की कोई हिम्मत नहीं कर पा रहा है लोकतंत्र के सारे स्तंभ गिरा दिए गए हो लोकतंत्र को बचाने की जिम्मेदारी किसान ने उठाई है आज विपक्ष की भूमिका में किसान आकर खड़ा हो गया है ,*

*इस आक्रोश को जितना जल्द समझेंगे उतना अच्छा होगा   नहीं तो ये किसान आंदोलन इतिहास लिखने जा रहा है , ये लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई है, किसानो के साथ खड़े हो जाइए नही तो कल जो होगा उसके जिम्मेदार केवल और केवल आप होंगे*

*फैसला आपका लेना है क्योंकि देश आपका है*





Tags : power officer support yesterday today time movement parties question power