Taksh Pragya Sheel Gatha
Home >> इतिहास >> अरिय शब्द पालि भाषा

अरिय शब्द पालि भाषा

TPSG

Tuesday, August 6, 2019, 04:23 PM
Ariy sabd

जब ईरानी राजा दारा प्रथम (532-486 ईसा०पू०) ने भारत के सीमावर्ती क्षेत्र पंजाब के कुछ हिस्सों पर अपना अधिकार जमा लिया था। तब उसने #बेस्तिन शिलालेख प्रथम में अपने को अरिय=(आर्य) राजा घोषित किया। जबकि आपको यह जानकर आश्चर्य होगा की "अरिय" शब्द फारसी भाषा का न होकर पालि भाषा की चोरी है,शाभ्रांत शब्दो की गरिमा का दूषित प्रयोग है। उसके बाद से इन राजाओ और सामन्तों में अरिय=(आर्य) शब्द का प्रचलन बड़े जोरो-शोरो पर प्रारम्भ हुवा।
उसी प्रकार ईरानी ग्रन्थ अवेस्ता का अवतरण ऋग्वेद है। अवेस्ता में कही नहीं आया ब्राह्मण शब्द क्योकि बाह्मण शब्द पालि-प्राकृत का है। इसको अवेस्तान-ऋग्वेदिक #ईरानियों ने भारत में घुसपैठ के बाद प्रयुक्त दूषित करना शुरू किया है। #ऋग्वेद में 15 बार ब्राह्मण शब्द की आवृत्ति होती है।
#Bestin script-1 
5. आम आर्षमह्म पिता #अरिया रम्न अरिया रम्नह्य पिता चिपश्च ;
वही भारतीय संस्कृति में खत्तिय शब्द खेतिहरो या राजाओ के सम्बधं में प्रयुक्त है जो पारसी ईरानी फारसी भाषा में ख्यायथ्रिय=(राजा) का उल्लेख है जो आज की हिन्दी में क्षत्रिय हो जाता है।
Bestin script-1
1. अदम दरयवउश ख्यायथ्रिय वज्रक ख्यायथ्रिय।
#अरिय= श्रेष्ठ (पञ्च शीलो का पालन करने वाला मनुष्य)।
#खत्तिय= खेतिहर, या राजा , भूमि का मालिक।
#बाह्मण= स्मृतिवान, शील सम्प्पन मनुष्य।
#ख्यायथ्रिय= राजा = खत्तिय= क्षत्रिय ।
#अरिय= आर्य जिसका अर्थ श्रेष्ठ है नाकि आर्य।

Tags : Punjab Inscription India region border control