Taksh Pragya Sheel Gatha
Home >> इतिहास >> जातक कथाएं

जातक कथाएं

TPSG

Tuesday, October 1, 2019, 07:48 PM
Jatak Kathaye

अजंता लेणी में 550 जातक कथाओं में से अनेक कथाओं का चित्रण हुआ है... जातक कथाएं दरअसल नीति कथाएं,संस्कार कथाएं हैं ... ये कथाएं कई महत्वपूर्ण संदेश देती हैं, इन्हें दृष्टांत कथाएं भी कहा जाता है... कथाओं का चित्रण करते समय तत्कालीन परिस्थितियों के यथार्थ को मद्देनज़र रखा गया है...
लोकजीवन, केश विन्यास, वस्त्र, अलंकरण, रीति -रिवाज़, परंपराएं इन सबका वास्तविक चित्रण यहां दिखलाई पड़ता है...

ग्राम्य जीवन, कस्बा, नगर, वन्य खानाबदोश जीवन
---इन चार ही प्रकार के जीवन के प्रत्यंतर, बिंब अजंता चित्रकला में हमें देखने को मिलते हैं।

चार मंज़िला इमारतें, भव्य राजप्रासाद ,वन्यकुटी, झोपड़ियाँ, छोटी बैठक के घर, सर्व साधारण घर, आदि की विविध छवियां दिखलाई पड़ती हैं... एक जातक कथा में घर बनाने वाले कुटुंब का चित्रण भी हमें मिलता है...
काष्ठ निर्मित,मिट्टी से ईंटे बनाने हेतु पानी ढोकर लाते लोग... कामकाज पर नज़र रखने वाली गृहस्वामिनी...
सभी का सामूहिक चित्रण यहाँ हुआ है... प्रत्येक मनुष्य का व्यक्ति -चित्रण और अभिनय की विविधता, हम स्पष्ट देख सकते हैं... यहाँ साफ़ नज़र आता है कि चित्रकार उत्तम निर्देशन की प्रतिभा से संपन्न रहा होगा...

ये चित्रण ई. सन् तीसरे शतक से आठवें शतक का
होना संभावित है... इन चित्रों में महिलाओं के आभूषण, श्रृंगार के विविध प्रकार हम देख सकते हैं... लेकिन मुझे एक भी महिला ऐसी नहीं दिखी जिसने माथे पर कुंकुम
लगा रखा हो...

-------------------------------- महेंद्र शेगांवकर
हिंदी रुपांतरण : राजेंद्र गायकवाड़





Tags : parable messages important actually stories Ajanta Leni