Taksh Pragya Sheel Gatha
Home >> इतिहास >> वडनगर गुजरात में इन दिनों पुरातत्व की खुदाई

वडनगर गुजरात में इन दिनों पुरातत्व की खुदाई

TPSG

Saturday, August 8, 2020, 11:16 AM
badnagar

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृहनगर वडनगर में इन दिनों पुरातत्व की खुदाई चल रही है। हाल ही में यहां से बौद्ध स्तूप मिले थे। खनन के दौरान अब यहां से करीब 2 हजार साल पुराने दो बौद्ध कक्ष और चार दीवारें मिली हैं। ये दीवारें करीब 2 मीटर ऊंची और 1 मीटर चौड़ी हैं। आसपास के हालात देखकर पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने यहां बौद्ध विहार होना का अनुमान लगाया है।

▪ महेसाणा जिले के वडनगर में चल रही खुदाई के दौरान हाल ही में तीसरी व चौथी सदी के बौद्ध स्तूप के अवशेष और सातवीं-आठवीं सदी का एक मानव कंकाल भी मिला था। यह मानव कंकाल सातवीं-आठवीं सदी का बताया गया है। खुदाई के दौरान तीसरी व चौथी सदी के समय का सांकेतिक बौद्ध स्तूप भी मिला था। फिलहाल लॉकडाउन के दौरान भी सारेगामा सर्कल में रेलवे फाटक के पास खुदाई चल रही है।

▪ वडनगर गुजरात का प्राचीन शहर है। इसका इतिहास करीब 2500 साल पुराना है। पुरातत्ववेत्ताओं के मुताबिक, यहां हजारों साल पहले खेती होती थी। खुदाई के दौरान यहां से हजारों साल पहले के मिट्टी के बर्तन, गहने और तरह-तरह के औजार-हथियार भी मिल चुके हैं। कई पुरातत्ववेत्ताओं का मानना है कि यह हड़प्पा सभ्यता के पुरातत्व स्थलों में से एक है। हड़प्पा सभ्यता भारत की सबसे प्राचीनतम सभ्यता मानी जाती है।





Tags : symbolic recently Buddhist stupa century Mahesana Vadnagar excavations