Taksh Pragya Sheel Gatha
Home >> इतिहास >> पानगुरारिया_बौद्ध_विहार

पानगुरारिया_बौद्ध_विहार

TPSG

Saturday, December 19, 2020, 10:11 AM
Panguraria

#मध्यप्रदेश के सिहोर जिले में #पानगुरारिया_बौद्ध_विहार है।

पानगुरारिया में अशोक के दो शिलालेख और एक यष्टि लेख मौजूद है। सभी की भाषा प्राकृत और लिपि ब्राह्मी(धम्म) है।

पहली तस्वीर अशोक के शिलालेख की है और दूसरी यष्टि लेख की। यष्टि लेख पर अशोक की बेटी संघमित्रा द्वारा दान दिए जाने का विवरण अंकित है, जिससे संघमित्रा की पुरातात्त्विक ऐतिहासिकता पुष्ट होती है।

अशोक के शिलालेख पर एक जो प्रमुख बात लिखी है, वह यह कि राजा, जो पियदसि नाम से जाने जाते थे, एक बार उपुनीथ विहार की तब यात्रा की, जब कुमार सम्व की मानेम देश की प्रशासनिक जिम्मेवारी थी।

कुमार सम्व संभवतः अशोक के परिवार के जान पड़ते हैं और मानेम देश सिहोर का इलाका रहा होगा।

आसपास में कई शैलाश्रय हैं। शैलाश्रय बौद्ध भिक्षुओं के आवास और साधना स्थल थे। स्थानीय भाषा में इसे सारू - मारू की कोठड़ी बोलते हैं। इसके आसपास छोटे - छोटे कई स्तूप हैं और एक बड़ा स्तूप भी है। आप चित्र में स्तूपों को देख सकते हैं।

अंतिम तस्वीर अशोक के शिलालेख का लिपि - रेखांकन है, जिसमें लिखा है - " पियदसिनामराजा कुमार सम्व मानेम देसे उपुनीथ विहार याताया "।

-बुध्दिष्ट इंटरनेशनल नेटवर्क





Tags : historicity archaeological Sanghamitra daughter donation description article inscription picture